बड़े भाई साहब – मुंशी प्रेमचंद | Bade Bhai Sahab Book PDF Download by Premchand

bade-bhaisahib-by-premchand-pdfdownload

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

पुस्तक का नाम (Name of Book)बड़े भाई साहब | Bade Bhai Sahab PDF
पुस्तक का लेखक (Name of Author)प्रेमचंद / Premchand
पुस्तक की भाषा (Language of Book)हिंदी | Hindi
पुस्तक का आकार (Size of Book)3 MB
पुस्तक में कुल पृष्ठ (Total pages in Ebook)18
पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)कहानियाँ / Stories

पुस्तक के कुछ अंश (Excerpts From the Book) :-

मेरे भाई साहब मुझसे पाँच साल बड़े थे, लेकिन केवल तीन दरजे आगे उन्होंने भी उसी उम्र में पढ़ना शुरू किया था जब मैंने शुरू किया, लेकिन तालीम जैसे महत्त्व के मामले में वह जल्दबाजी से काम लेना पसन्द न करते थे। इस भावना की बुनियाद खूब मज़बूत डालना चाहते थे, जिस पर आलीशान महल बन सके। एक साल का काम दो साल में करते थे। कभी-कभी तीन साल भी लग जाते थे। बुनियाद भी पुख्ता न हो, तो मकान कैसे पायेदार बने। मैं छोटा था, वह बड़े थे। मेरी उम्र नौ साल की थी, वह चौदह साल के थे।

4.7/5 - (3 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published.