नीरजा : महादेवी द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Nirja by Mahadevi Verma Hindi PDF Book

nirja by mahadevi verma book pdf

नीरजा ( Nirja by Mahadevi Hindi PDF Book ) के बारे में अधिक जानकारी :

पुस्तक का नाम (Name of Book)नीरजा | Nirja
पुस्तक का लेखक (Name of Author)Mahadevi Verma
पुस्तक की भाषा (Language of Book)हिंदी | Hindi
पुस्तक का आकार (Size of Book)300 MB
पुस्तक में कुल पृष्ठ (Total pages in Ebook)116
पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)Poetry

पुस्तक के कुछ अंश (Excerpts From the Book) :-

प्रस्तुत गीति काव्य ‘नीरजा’ में ‘नोहार’ का उपासना-भाव और भी सुस्पष्टता और तन्मयता से जाग्रत हो उठा है। इसमें अपने उपास्य के लिए केवल आत्मा को करुण अधीरता ही नहीं, अपितु हृदय की विह्वल प्रसन्नता भी मिश्रित है।’ ‘नीरजा’ यदि अश्रुमुख वेदना के कणों से भीगी हुई है, तो साथ ही आत्मानन्द के मधु से मधुर भी है। मानो, कवि की वेदना, कवि की करुणा, अपने उपास्य के चरण-स्पर्श से पूत होकर आकाश गंगा की भाँति इस छायामय जग को सींचने में ही अपनी सार्थकता समझ रही है ।

नीरजा’ के गीतों में संगीत का बहुत सुन्दर प्रवाह है। हृदय के अमूर्त भावों को भी, नव-नव उपमाओं एवं रूपकों द्वारा कवि ने बड़ी मधुरता से एक-एक सजीव स्वरूप प्रदान कर दिया है। भाषा सुन्दर, कोमल, मधुर और सुस्निग्ध है। इसके अनेक गीत अपनी मार्मिकता के कारण सहज ही हृदयंगम हो जाते हैं।

श्रीमती वर्मा हिन्दी कविता के इस वर्तमान युग की वेदना- प्रधान कवियित्री हैं। उनकी काव्य-वेदना आध्यात्मिक है। उसमें आत्मा का परमात्मा के प्रति आकुल प्रणय निवेदन है। कवि की आत्मा, मानो विश्व में बिछुड़ी हुई प्रेयसी की भांति अपने प्रियतम का स्मरण करती है । उसकी दृष्टि से विश्व को सम्पूर्ण प्राकृतिक शोभा- सुषमा एक अनन्त अलौकिक चिर सुन्दर की छायामात्र है।

Read Also : पथ के साथी पीडीएफ हिंदी में डाउनलोड करें | Path Ke Sathi pdf download in Hindi

यामा- महादेवी वर्मा हिंदी पीडीऍफ़ | Yaama by Mahadevi Verma Free Hindi Book

नीचे दिए गए लिंक के द्वारा आप नीरजा ( Nirja by Mahadevi Hindi PDF Book ) डाउनलोड कर सकते हैं ।

Download

Please Rate it post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *