साहित्य और कथा / literature and fiction तेनालीराम की अनोखी दुनिया | Tenaliram Ki Anokhi Duniya PDF Download

तेनालीराम की अनोखी दुनिया | Tenaliram Ki Anokhi Duniya PDF Download

30
Tenaliram Ki Anokhi Duniya PDF Download

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

पुस्तक का नाम (Name of Book)तेनालीराम की अनोखी दुनिया | Tenaliram Ki Anokhi Duniya PDF
पुस्तक का लेखक (Name of Author)अशोक माहेश्वरी / Ashok Maheshwari
पुस्तक की भाषा (Language of Book)हिंदी | Hindi
पुस्तक का आकार (Size of Book)2 MB
पुस्तक में कुल पृष्ठ (Total pages in Ebook)118
पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)साहित्य और कथा / literature and fiction

पुस्तक के कुछ अंश (Excerpts From the Book) :-

तेनालीराम की अनोखी दुनिया- अशोक महेश्वरी दक्षिण भारत के गुंटूर जिले के गली पाडु नामक कस्बे में एक सामान्य गृहस्थ के घर में तेनालीराम का जन्म हुआ था। उसके माता-पिता बहुत ही धार्मिक प्रवृत्ति के थे जिसके कारण उन्होंने अपने पुत्र का नाम रामलिंगम रखा। तेनालीराम यानी रामलिंगम अभी बहुत छोटा था, तभी उसके पिता का निधन हो गया। रामलिंगम की माता पर मानो दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। वे अपनी ससुराल ‘गलीपाडु’से अपने भाई के पास लौट आईं। उनका भाई ‘तेनाली’नामक कस्बे में रहता था। तेनाली में रामलिंगम सामान्य बच्चों की तरह ही खेलता-पढ़ता हुआ बड़ा होने लगा। उसे गुरु के पास शिक्षा ग्रहण करने के लिए भेजा गया, उस समय किसी ने सोचा न था कि अपनी मेधा के बल पर तेनालीराम ऐसी ख्याति अर्जित करेगा कि सदियों, सहस्त्राब्दियों तक लोग उसकी बुद्धि, न्यायप्रियता और हाजिर जवाबी की कहानियाँ कहते रहेंगे। अपनी कुशाग्रबुद्धि और मिलनसारिता के गुणों के कारण तेनालीराम बचपन में ही लोगों के आकर्षण का केन्द्र हो गए थे। मूलनाम रामलिंगम तो था ही, गुरुकुल में उसे तेनाली वाला रामलिंगम कहा जाने लगा और बाद में यही तेनालीराम बन गए। तेनालीराम के बुद्धि-बल को लेकर इतनी किंवदन्तियाँ हैं जिनसे लगता है कि तेनालीरामजैसा कुशाग्रव्यक्ति दक्षिण भारत में न उनके पहलेजन्मा था और न बाद में।

Click to rate this post!
[Total: 0 Average: 0]

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here