कहानियाँ / Stories लाॅटरी – मुंशी प्रेमचन्द | Lottery Book PDF Download by Premchand

लाॅटरी – मुंशी प्रेमचन्द | Lottery Book PDF Download by Premchand

23
lottery-premchand-pdf-download

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

पुस्तक का नाम (Name of Book)लाॅटरी | Lottery PDF
पुस्तक का लेखक (Name of Author)प्रेमचंद / Premchand
पुस्तक की भाषा (Language of Book)हिंदी | Hindi
पुस्तक का आकार (Size of Book)5 MB
पुस्तक में कुल पृष्ठ (Total pages in Ebook)25
पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)कहानियाँ / Stories

पुस्तक के कुछ अंश (Excerpts From the Book) :-

जल्दी से मालदार हो जाने की हवस किसे नहीं होती? उन दिनों जब लॉटरी के टिकट आये, तो मेरे दोस्त, विक्रम के पिता, चचा, अम्मी और भाई, सभी ने एक-एक टिकट ख़ौद लिया। कौन जाने किसकी तकदीर जोर करे? किसी नाम आये, रुपया रहेगा तो घर में हीमगर विक्रम को सब्र न हुआ औरों के नाम रुपये आयेंगे, फिर उसे कौन पूछता है? बहुत होगा, दस-पाँच हजार उसे दे देंगे। इतने रुपयों में उसका क्या होगा? उसकी ज़िन्दगी में बड़े-बड़े मंसूबे थे। पहले तो उसे सम्पूर्ण जगत की यात्रा करनी थी,

Click to rate this post!
[Total: 1 Average: 5]

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here