मन्त्र शक्ति हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Mantra Shakti in Hindi PDF Book

Tantra-Shakti-pdf-download

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

पुस्तक का नाम (Name of Book)मन्त्र शक्ति / Mantra Shakti PDF
पुस्तक का लेखक (Name of Author)डॉ. रुद्रदेव त्रिपाठी / Dr. Rudradev Tripathi
पुस्तक की भाषा (Language of Book)हिंदी | Hindi
पुस्तक का आकार (Size of Book)32 MB
पुस्तक में कुल पृष्ठ (Total pages in Ebook)165
पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)तंत्र विद्या/Tantra Vidya

पुस्तक के कुछ अंश (Excerpts From the Book) :-

प्रत्येक मनुष्य अपने आपको सब ओर से सुखी और सम्पन्न देखना चाहता है । सुख की प्राप्ति के अनेक साधन हैं, उनमें तन्त्र-साधना भी एक है। इस साधना के द्वारा बड़ी-से बड़ी और छोटी-से-छोटी, जैसी भी समस्या हो उसका समाधान सहज प्राप्त किया जा सकता है ।
भारतीय जीवन में आस्तिकता पूर्णरूप से घुली मिली है और इसके फल स्वरूप प्रत्येक भारतीय अपने धर्म और सम्प्रदाय के अनुरूप तान्त्रिक तत्त्वों से सम्बन्ध जोड़कर उससे लाभान्वित होता रहता है ।
‘तन्त्र शक्ति’ में प्रकृति से प्राप्त वस्तुओं के सहयोग से उनमें सोई हुई देवी शक्ति को जगाकर अपने अनुकूल बनाने और उनके द्वारा अपने इच्छित कार्यों को सफल बनाने की विधि बताई गई है । ‘उचित समय, उचित देश एवं उचित पद्धति से किए गए कार्य ही वस्तुतः सफल होते हैं,

इस बात को ध्यान में रखकर इस पुस्तक में शास्त्रीय विधियों को बहुत ही सरल भाषा में समझाया गया है। । इसके अध्ययन से तन्त्र-सम्बन्धी भ्रम का सहज निवारण हो सकेगा ।

  • मानव-जीवन की आवश्यकताओं और आकांक्षाओं की पूर्ति के अनेक साधनों में ‘तन्त्र’ सरल और सुगम साधन है ।
  • यह भ्रम सर्वथा निर्मूल है कि तन्त्र केवल भूल भूलैया अथवा मन बहलाने का नाम है |
  • तन्त्र का विशाल प्राचीन साहित्य इसकी वैज्ञानिक सत्यता का जीता-जागता प्रमाण है ।
  • आधुनिक विज्ञान और तन्त्र में बहुत समानता होते हुए भी तन्त्र
    में स्थायित्व है, सत्य है और कल्याण है।
  • तन्त्र – विधान का शास्त्रीय परिचय और विधियों का सर्वांगीण ज्ञान साधना को सफल बनाकर सिद्धि तक पहुँचाता है।
    4 लोक कल्याण और आत्म-कल्याण की कामना से किये गये तान्त्रिक कर्म इस लोक और परलोक दोनों में लाभदायी होते हैं।
    नित्यकर्म, संक्षिप्त हवन विधि, शास्त्रीय गणपति और गायत्री तन्त्र के अभिनव प्रयोग आपको कष्टों से बचाने में सहायक होंगे।
  • वनस्पति तन्त्र में सहदेवी, श्वेतार्क, निर्गुण्डी, रक्तगुंजा, बरगद के कल्प, बन्दे के प्रयोग, विष निवारण तथा ग्रह पीड़ाओं से बचने के औषध प्रयोग तथा स्नान विधि का शास्त्रीय निर्देशन इसमें पहली बार ही दिये गये हैं ।
  • एकाक्षि-नारिकेल-कल्प, यन्त्र सहित, रत्न धारण- तन्त्र, दक्षिणा वर्त-शंख-कल्प और हाजरात के प्रयोग भी प्रामाणिक रूप से यहां प्रकाशित किये गये हैं ।
नीचे दिए गए लिंक के द्वारा आप मन्त्र शक्ति हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Mantra Shakti Hindi PDF Book डाउनलोड कर सकते हैं ।

Download

5/5 - (1 vote)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *