गौतम बुद्ध की कहानियाँ PDF | Mahatma Buddha Ki Kahaniyan Hindi PDF

पुस्तक के कुछ मशीनी अंश:

राजा के यहाँ बुद्ध का जन्म हुआ। पिता ने ज्योतिषियों को बुलाकर भविष्य पूछा। उन्होंने कहा, “या तो यह सम्राट् होगा और या तो यह साधु होगा।” एक तरह से देखा जाए तो सच्चा सम्राट् भीतर से साधु ही होता है। जब ज्योतिषियों की भविष्यवाणी राजा ने सुनी तो वे घबरा गए कि मेरा बेटा साधु हो जाए, ऐसा ठीक नहीं होगा। राजा ने पूछा, “कोई उपाय बताएँ, क्योंकि मैं चाहता हूँ कि राजा का पुत्र राजा ही बने।” ज्योतिषियों ने कहा कि इसका लालन-पालन व पूरा जीवन बड़ी सावधानी में बिताना होगा। अर्थात् आपका पुत्र सिद्धार्थ कभी किसी बूढ़े व्यक्ति को न देखे, कभी किसी बीमार व्यक्ति को न देखे और कभी किसी मरे हुए व्यक्ति को न देखे। जब तक ऐसा होगा तब तक वे राजा ही बने रहेंगे, अगर ऐसा नहीं हुआ तो वे साधु बन जाएँगे।

राजा शुद्धोधन ने अपने पुत्र सिद्धार्थ के लिए बढ़िया-से-बढ़िया, बड़े-बड़े महल, अच्छे से अच्छा भोजन, दास दासियाँ और खाने-पीने के सामान आदि वस्तुओं के ढेर लगा दिए। पिता ने पुत्र को सुख-सुविधाओं में इतना उलझा दिया कि उसे बाहर का संसार याद ही नहीं आया। शुद्धोधन ने समझ लिया कि अब इतने सुखों के आगे साधु बनने का प्रश्न ही उपस्थित नहीं होता। वे निश्चिंत हो गए।

पुस्तक का नाम (Name of Book) गौतम बुद्ध की कहानियाँ | Mahatma Buddha Ki Kahaniyan Hindi PDF
 पुस्तक का लेखक (Name of Author) Bharat Lal Sharma
 पुस्तक की भाषा (Language of Book)Hindi
 पुस्तक का आकार (Size of Book)1.1 MB
  कुल पृष्ठ (Total pages ) 123
 पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)कहानियाँ / Stories
4.7/5 - (4 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published.