चाणक्य नीति PDF | Chanakya Niti Book in Hindi

Chanakya Niti Book in Hindi

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

पुस्तक का नाम (Name of Book)चाणक्य नीति PDF | Chanakya Niti PDF
पुस्तक का लेखक (Name of Author)अश्विनी पाराशर | Ashwani Prashar
पुस्तक की भाषा (Language of Book)हिंदी | Hindi
पुस्तक का आकार (Size of Book)45 MB
पुस्तक में कुल पृष्ठ (Total pages in Ebook)233
पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)जीवनी और आत्मकथाएँ / Biography and Autobiography

पुस्तक लेखक और प्रकाशक विवरण (Book Writer And Publisher Detail) :-

चाणक्य नीति या चाणक्य नीतिशास्त्र (४ से ३ शताब्दी ई॰पु॰ मध्य) चाणक्य द्वारा रचित एक नीति ग्रन्थ है। आचार्य चाणक्य एक ऐसी महान विभूति थे, जिन्होंने अपनी विद्वत्ता, बुद्धिमता और क्षमता के बल पर भारतीय इतिहास की धारा को बदल दिया। मौर्य साम्राज्य के संस्थापक चाणक्य कुशल राजनीतिज्ञ, चतुर कूटनीतिज्ञ, प्रकांड अर्थशास्त्री के रूप में भी विश्वविख्‍यात हुए।

इतनी सदियाँ गुजरने के बाद आज भी यदि चाणक्य के द्वारा बताए गए सिद्धांत ‍और नीतियाँ प्रासंगिक हैं तो मात्र इसलिए क्योंकि उन्होंने अपने गहन अध्‍ययन, चिंतन और जीवानानुभवों से अर्जित अमूल्य ज्ञान को, पूरी तरह नि:स्वार्थ होकर मानवीय कल्याण के उद्‍देश्य से अभिव्यक्त किया।

आचार्य विष्णुगुप्त (चाणक्य) द्वारा प्रणीत चाणक्य नीति का मुख्य विषय मानव मात्र को जीवन के प्रत्येक पहलू की व्यावहारिक शिक्षा देना हैं। इसमें मुख् रूप से धर्म, संस्कृति, न्याय, शांति, सुशिक्षा एवं सर्वतोमुखी मानव-जीवन की प्रगति की झांकियां प्रस्तुत की गई हैं।

आचार्य चाणक्य के नीतिपरक इस महत्वपूर्ण ग्रंथ में जीवन-सिद्धान्त और जीवन व्यवहार तथा आदर्श यथार्थ का बड़ा सुन्दर समन्वय देखने को मिलता है। जीवन की रीति-नीति सम्बन्धी बातों का जैसा अद्भुत और व्यावहारिक चित्रण यहां मिलता है अन्यत्र दुर्लभ है। इसी लिए यह ग्रन्थ पुरे विश्व में समादृत है।

नीचे दिए गए लिंक के द्वारा आप चाणक्य नीति PDF | Chanakya Niti Book in Hindi डाउनलोड कर सकते हैं ।

Download

चाणक्य नीति स्त्री का चरित्र

चाणक्य कहते हैं कि स्त्री देवी के समान होती है उसका हर कदम परिवार की भलाई के लिए होता है वह समाज में परिवार की इज्जत को बचा कर रखती है, लेकिन कभी-कभी औरत अपने चरित्र हीनता के कारण परिवार और खुद की इज्जत को ताक पर रख देती है इन महिलाओं को किसी एक पुरुष का प्यार नहीं चाहिए होता है.

चाणक्य नीति क्या है?

संस्कृत-साहित्य में नीतिपरक ग्रन्थों की कोटि में चाणक्य नीति का महत्त्वपूर्ण स्थान है। इसमें सूत्रात्मक शैली में जीवन को सुखमय एवं सफल बनाने के लिए उपयोगी सुझाव दिये गये हैं।

चाणक्य नीति में कितने अध्याय हैं?

‘चाणक्य नीति’ में कुल सत्रह अध्याय है।

चाणक्य नीति की कहानी क्या है?

चाणक्य ने चंद्रगुप्त और बिंदूसार दोनों के लिए प्रधानमंत्री और राजनयिक सलाहकार के रूप में काम किया। चाणक्य का जन्म 371 ईसा पूर्व में तक्षशिला के एक गरीब ब्राह्मण परिवार में हुआ। उनके पिता चनक (चानना) हैं और उनकी मां चनेश्वरी हैं। बचपन में ही चाणक्य ने वेदों का अध्ययन किया और राजनीति के बारे में सीखा।

5/5 - (5 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *