प्रेमचन्द की लोकप्रिय कहानियाँ | Premchand Ki Lokpriya Kahaniyan PDF Download Free

96
Premchand Ki Lokpriya Kahaniyan Hindi PDF Download

पुस्तक का विवरण (Description of Book) :-

पुस्तक का नाम (Name of Book)प्रेमचन्द की लोकप्रिय कहानियाँ | Premchand Ki Lokpriya Kahaniyan
पुस्तक का लेखक (Name of Author)प्रेमचंद | Premchand
पुस्तक की भाषा (Language of Book)Hindi
पुस्तक का आकार (Size of Book)3 MB
पुस्तक में कुल पृष्ठ (Total pages in Ebook)148
पुस्तक की श्रेणी (Category of Book)कहानियाँ / Stories

पुस्तक के कुछ अंश (Excerpts From the Book) :-


प्रेमचन्द की लोकप्रिय कहानियाँ Pdf Download free, प्रेमचन्द की लोकप्रिय कहानियाँ पीडीऍफ़ डाउनलोड करें फ्री , Books By Munshi Deviprasad,Premchand Ki Lokpriya Kahaniyan PDF Download Free , Premchand Ki Lokpriya Kahaniyan PDF, प्रेमचन्द की लोकप्रिय कहानियाँ book in hindi free download,प्रेमचन्द की लोकप्रिय कहानियाँ हिंदी में डाउनलोड करें ।

दस-बारह दिन और बीत गए। दोपहर का समय था। बाबूजी खाना खा रहे थे। मैं पीनस के चपरासी मुन्नू के पैरों में बांध रहा था। एक स्त्री घूंघट उतार कर आंगन में खड़ी हो गई। उसके कपड़े फटे और गंदे थे, लेकिन वह एक खूबसूरत गोरी महिला थी। उसने मुझसे पूछा, “भैया, बहू कहाँ है?” मैं उसके पास गया और मेरी ओर देखते हुए कहा, “तुम कौन हो, क्या बेचते हो?” महिला – “मैं कुछ नहीं बेचती, बस यह कमल का गट्टा आपके लिए लाया हूँ।” मैं हूँ भैया, क्या आपको कमल के गट्टे बहुत पसंद हैं?” मैंने उत्सुक आँखों से उसके हाथ में लटके हुए पोटली को देखते हुए पूछा, “कहाँ से मिला? देखो।” औरत, “तुम्हारे नौकर ने भेजा है, भाई।” मैं उछल पड़ा और बोला, “काजाकी?” महिला ने सिर हिलाया और कहा, ‘हाँ’ और गठरी खोलने लगी। इसमें अम्माजी भी बाहर आ गईं। वर्ग। उसने अम्मा के पैर छुए। अम्मा ने पूछा, “क्या आप कज़ाकी की पत्नी हैं?” महिला ने अपना सिर झुका लिया। इस पुस्तक से सम्राट मुंशी पेमचंद के उपन्यास से चुनी गई मार्मिक और मार्मिक कहानियों का संग्रह।

Click to rate this post!
[Total: 1 Average: 5]
Previous articleHindi-English Bilingual Visual Dictionary Book Download
Next articleभगतसिंह और उनके साथियों के सम्पूर्ण दस्तावेज | Bhagat Singh Aur Unke Sathiyon Ke Dastavez Book PDF Download

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here